मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं लिरिक्स (Mai Shiv Ka Shiv Mere hai Lyrics by Hansraj)

मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं लिरिक्स हिंदी में (Mai Shiv Ka Shiv Mere Lyrics In Hindi)

मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं

मैं और क्या मांगू शंकर से
मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं
मैं और क्या मांगू शंकर से
मेरे मन में के डेरे है
मैं और क्या मांगू शंकर से
मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं
मैने बहुत बार खाई ठोकर
गिरते को संभला है उसने
औकत मेरी से ऊपर ही
कितना कुछ दे डाला उसने
मेरे पर लगाये बेड़े है
पर वक्त वो नेड़े नेड़े है
मेरे दिन बाबा ने फेरे है
मैं और क्या मांगू शंकर से
मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं
मैं और क्या मांगू शंकर से
मैं जब से शिव का भक्त हुआ
मेरे दिल से बिदा हुई नफ़रत
पशु पक्षियों से भी प्रेम हुआ
मासूम सी हो गई ये फितरत
सब चेहरे उसके चेहरे हैं
उसके ही अंधेर सवेरे है
शिव प्रेम ही मुझको घेरे है
मैं और क्या मांगू शंकर से
मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं
मैं और क्या मांगू शंकर से
भोले ने दिया है ये जीवन
भोले के नाम पे है जीवन
रवि राज के दिल में है शंकर
ऐसे ही नहीं चलती धड़कन
हर सांस पर उनके पहरे हैं
सब रस्ते उनपे ठहरे है
मेरे सब दिन रात सुनहरे हैं
मैं और क्या मांगू शंकर से
मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं
मैं और क्या मांगू शंकर से
सिठाता तेरा चोल काला डोरा
ओह शंभुआ होथे शोठियो
सिठाता तेरा चोल काला डोरा
ओह शंभुआ होथे शोठियो
मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं
मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं
मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं
More Hanshraj Raghuwanshi  Bhajan👇

मैं शिव का हूँ शिव मेरे हैं लिरिक्स अंग्रेज़ी
में (
Mai
Shiv Ka Shiv Mere Lyrics In English)

Presenting latest songs Main Shiv Ka Shiv Mere sung by Hansraj Raghuwanshi. The music of new song is given by Zakir



Main shiv ka hun shiv mere hai
Main aur kya mangu shankar se

Main shiv ka hun shiv mere hai

Main aur kya mangu shankar se

Mere man mein ke dere hai

Main aur kya mangu shankar se

Main shiv ka hun shiv mere hai

Maine bahut bari khayi thokar

Girte ko sambhala hai usne

Aukat meri se upar hi

kitna kuch dedala usne

Mere par lagaye bedhe hai

Par waqt bane nedhe nedhe hai

Mere din baba ne phede hai

Main aur kya mangu shankar se

Main shiv ka hun shiv mere hai

Main aur kya mangu shankar se

Main jab se shiv ka vakt hua

Mere dil se bida hui nafrat

Passu pakshiyon se bhi prem hua

Masoom si ho gayi ye fitrat

Sab chehre uske chehre hai

Uske andehr sawere hai

Shiv prem hi mujhko ghere hai

Main aur kya mangu shankar se

Main shiv ka hun shiv mere hai

Main aur kya mangu shankar se

Bhole ne diya hai ye jeevan

Bhole ke naam pe hai jeevan

Ravi raj ke dil mein hai shankar

Aise hi nahi chalti dhadkan

Har saans pe unke pehre hai

Sab raste pe unpe therahe hai

Mere sab din raat sunhare hai

Main aur kya mangu shankar se

Main shiv ka hun shiv mere hai

Main aur kya mangu shankar se

Sidhata tera chola kala dora

Oh shambhua haate shotiyo

Sidhata tera chola kala dora

Oh shambhua haate shotiyo

Main shiv ka hun shiv mere hai

Main shiv ka hun shiv mere hai

Main aur kya mangu shankar se





Singer – Hansraj Raghuwanshi

Leave a Comment