कैलाश के निवासी नमो (Kailash Ke Nivasi Namo Baar Hu)


कैलाश के निवासी नमो बार बार हूँ लिरिक्स
Kailash Ke Nivasi Namo Baar Hu
Bhajan Lyrics

कैलाश के निवासी नमो बार बार हूँ,

आये शरण तिहारी प्रभू तार तार
तू।।



भक्तो को कभी शिव ने निराश ना किया|

माँगा जिसे चाहा वही
वरदान दे दिया|

बड़ा हैं तेरा दायरा, बड़ा दातार तू||

आये शरण……


बखान क्या करू मै राखो की ढेर का|

लिपटी विभूति में हैं
खजाना कुबेर का||

है गंगाधार, मुक्तिधार, ओंकार तू||

आयो शरण……..


क्या क्या नहीं दिया है ये हम प्रमाण है|

तेरी कृपा के आसरे सारा
जहान है||

ज़हर पिया, जीवन दिया, कितना उदार तू||

आयो शरण……..

तेरी कृपा बिना न हीले एक भी
अणु|

लेते हैं स्वास तेरी दया से तनु तनु||

करे दे ठाट,
एक बार, मुझको निहार तू,

आयो शरण……..

कैलाश के निवासी नमों बार बार हूँ,

आये शरण तिहारी
प्रभू तार तार तू।।

Kailash ke nivaasi namo baar baar hai Lyrics in English

Kailash ke nivaasi namo baar baar hai 

aye sharan tihari
tihari prabhu taar taar tu


bhakto ko kabhi shiv ne nirash na kiya 

manga jise chaha vahi vardan de diya 

bada hai tera dayra , badaa dataar tu 

aye sharan tihari…………………



bakhan kya karu mai, raakho ki dher ka 

Lipti vibhuti me ,hai khajaana kuber ka 

hai gangadhaar , muktidhar , omkar tu 

aye sharan tihari…………………….


teri kripta bina na hile ak bhi anu 

lete hai swaas teri dya se tanu tanu 

kar de dhadh, ek bar, mujhko nihaar tu 

aye sharan  tihaari……………………..

Kailash ke nivaasi namo baar baar hai

aye sharan tihari tihari
prabhu taar taar tu

Leave a Comment